BAAL JHAROKHA SATYAM KI DUNIYA HAM NANHE MUNNON KA

Sunday, August 15, 2021

लिए तिरंगा हम निकले हैं



हीरा हैं हम सोना हैं हम 
चांदी सा हम चमकेंगे !
सोने की चिड़िया, 
दूध की नदिया ,
"हरित-क्रांति" दिखलायेंगे !!
-----------------------------

गाओ बच्चों मेरे संग में !
मिल जाओ सब मेरे दल में !!
घर-घर से आवाज उठी है 
बन्दे मातरम -बन्दे मातरम !
लिए तिरंगा मै निकला हूँ 
कदम ताल कर -छम्मक छम !
----------------------------------

गाँव गली हर शहर नगर में 
रंग बिरंगा उत्सव है !
गीत शहीदों की गाते सब 
शीश झुका नतमस्तक हैं !!
----------------------------
न्याय , अहिंसा, भाईचारा ,
प्रेम सभी दिल में भर दें !
दुश्मन कहीं जो आँख दिखाए 
धूल-धूसरित पल में कर दें !!
----------------------------------
सिंह से गरजें चोटी  चढ़ के 
कर अपनी चौड़ी छाती !
जल थल नभ की अपनी सेना 
दुनिया में गरजे जाती !!
-------------------------------
राखी बाँधे  जोश दिए हैं 
सब वीर अमर अपने भाई !
जन-गण मन अधिनायक जय हे 
गीत -सांस-अपनी थाती !!
----------------------------------
अग्नि- पृथ्वी- ब्रह्म-अस्त्र सब 
अब सब अपनी मुट्ठी में !
सोने सा तप के हम निकले 
मातृ-भूमि की भट्ठी से !!
---------------------------------
रहे न कोई क्षेत्र अधूरा !
कर पायें हम जो ना पूरा !!


माँ-भारती है गुरु हमारी !
बलि जाए हम प्राण पियारी !!
------------------------------------
अनुशासन में पल के बढ़ के 
नम्र शिष्ट हम बन जाएँ !
मातृ-भूमि की रक्षा में डट 
न्योछावर हम हो जाएँ !!
-----------------------------


हमारे सभी मित्र गण और सम्माननीय नागरिकों को  75वें स्वतंत्रता दिवस की ढेर सारी हार्दिक शुभ-कामनाएं और बधाई -जय भारत जय हिंद .

5 comments:

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

बहुत सुन्दर गीत ..... बच्चों में देश प्रेम की भावना भर सकें यही प्रयास होना चाहिए ..

Surendra shukla" Bhramar"5 said...

बहुत बहुत आभार आप का आदरणीया, बच्चों की रचना को आप ने प्यार दिया खुशी हुई, राधे राधे।

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

आपकी लिखी रचना सोमवार 16 ,अगस्त 2021 को साझा की गई है ,
पांच लिंकों का आनंद पर...
आप भी सादर आमंत्रित हैं।
सादर
धन्यवाद।

संगीता स्वरूप

Sweta sinha said...

बहुत सुंदर ओजस्वी रचना।

उषा किरण said...

बहुत सुन्दर !